fbpx
Skip to content
Home » UPSC Kya Hai | यूपीएससी (UPSC) क्या है पूरी जानकारी हिंदी में

UPSC Kya Hai | यूपीएससी (UPSC) क्या है पूरी जानकारी हिंदी में

UPSC : दोस्तों मैं स्वागत करती हूँ अपनी website last-date.com पर।  तो दोस्तों आज मैं आप सभी को UPSC के बारे में जानकारी अपने आज के इस आर्टिकल में देने वाली हूँ। तो अगर आपको भी जानना हैं, कि UPSC Kya Hai और UPSC से जुडी कई महत्वपूर्ण बाते जो बदल सकती है आपके भविष्य का रुख तो बने रहिये हमारे इस आर्टिकल में शुरू से अंत तक हमारे साथ।

UPSE क्या है ?

UPSC का अर्थ है – संघ लोक सेवा आयोग (Union Public Service Commission (UPSC) -यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन), यह भारत के संविधान द्वारा स्थापित एक संवैधानिक निकाय है जो भारत सरकार के लोकसेवा के पदाधिकारियों की नियुक्ति के लिए परीक्षाओं का संचालन करता है। संविधान के भाग-14 के अंतर्गत अनुच्छेद 315-323 में एक संघीय लोक सेवा आयोग और राज्यों के लिए राज्य लोक सेवा आयोग के गठन का प्रावधान है। इसकी स्थापना लगभग 1 अक्टूबर , 1926 (94 वर्ष पहले)को हुई थी।  इसका सेवित क्षेत्र भारत भारत है, अथवा इसके अध्यक्ष प्रदीप कुमार जोशी जी है।

UPSE

UPSE का कार्य

इसका प्रमुख कार्य केन्द्र तथा राज्यों की लोकसेवा के लिए सदस्यों का परीक्षा द्वारा चयन करना है। इसके लिए यह विभिन्न परीक्षाएं आयोजित करती है। इनमें से कुछ प्रमुख हैं –

1. सिविल सेवा (प्रारंभिक) परीक्षा (मई में)
2. सिविल सेवा (प्रधान) परीक्षा (अक्टूबर/नवम्बर में)
3. भारतीय वन सेवा परीक्षा (जुलाई में)
4. भारतीय इंजीनियरी सेवा परीक्षा (जुलाई में)
5. भू-विज्ञानी परीक्षा (दिसम्बर में)
6. स्पेशल क्लास रेलवे अप्रेंटिसेज़ परीक्षा (अगस्त में)
7. राष्ट्रीय रक्षा अकादमी और नौसेना अकादमी परीक्षा (अप्रैल और सितम्बर में)
8. सम्मिलित रक्षा सेवा परीक्षा (मई और अक्टूबर में)
9. सम्मिलित चिकित्सा सेवा परीक्षा (फरवरी में)
10. भारतीय अर्थ सेवा/भारतीय सांख्यिकी सेवा परीक्षा (सितम्बर में)
11. अनुभाग अधिकारी/आशुलिपिक (ग्रेड ख/ग्रेड 1) सीमित विभागीय प्रतियोगिता परीक्षा (दिसम्बर में)

अन्य महत्वपूर्ण कार्य

➡️विभिन्न परीक्षाओं को आयोजित करने के अतिरिक्त UPSC, राज्य लोक सेवा के अधिकारियों को संघ लोक सेवा से अधिकारी के रूप में भर्ती करना।
➡️भर्ती के नियम बनाना।
➡️विभागीय पदोन्नति समितियों का आयोजन करना।
➡️भारत के राष्ट्रपति द्वारा निर्दिष्ट कोई अन्य मामला सुलझाना इत्यादि इसके प्रमुख कार्य हैं।

आयु सीमा

UPSC परीक्षा देने की न्यूनतम आयु 21 वर्ष और अधिकतम आयु 32 वर्ष निर्धारित की गई है। किंतु OBC उम्मीदवारों के लिए 3 वर्ष की आयु और SC/ ST उम्मीदवारों के लिए 5 वर्ष की छूट दी गई है।
यदि आप UPSC परीक्षा देने के इच्छुक है तो इस बात का ध्यान रखे कि आप UPSC द्वारा निर्धारित आयु सीमा के अंतर्गत ही हो।

राष्ट्रीयता

यहां पर यह बात अत्यंत महत्वपूर्ण है कि केवल भारतीय नागरिक ही (UPSC) संघ लोक सेवा आयोग परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं। UPSC परीक्षा देने वाले उम्मीदवार को भारत की नागरिकता प्राप्त होना अनिवार्य है। विदेशी व्यक्ति को UPSC परीक्षा देने का अधिकार नहीं है।

पैटर्न

1. सिविल सेवा परीक्षा दो चरणों में आयोजित की जाती है।
1.1. सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा वस्तुनिष्ठ प्रकार की होती है।
1.2. सिविल सेवा मुख्य परीक्षा में लिखित और साक्षात्कार के रूप में होती है। ( ये परीक्षा केवल उन आवेदकों के लिए है जो सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा उत्तीर्ण करते हैं।)

शैक्षणित योग्यता

उम्मीदवार के पास यूजीसी द्वारा मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय या संस्थान से किसी भी स्ट्रीम में स्नातक की डिग्री होनी चाहिए।

आवेदन  करें

आवेदक वेबसाइट upsconline.nic.in का उपयोग करके ऑनलाइन आवेदन कर सकता है।

परीक्षा का आधार

संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) परीक्षा को पास कर IAS-IPS या अफसर बनने का सपना हर किसी की आँखों मे पलता है, पर उनमें से कुछ ही अपने सपनों को पूरा कर पाते हैं। बता दें कि UPSC जैसी कठिन परीक्षा को पास करने वाले व्यक्ति ही देश के नौकरशाह बन पाते हैं, वहीं देश के कल्याण देश के विकास मे अपना अहम योगदान दे पाते है। UPSC अर्थात्‌ संघ लोक सेवा आयोग , की परीक्षा में प्राप्त रैंकिंग के आधार पर ही भारतीय प्रशासनिक सेवा (ISS) या भारतीय पुलिस सेवा (IPS) में चयन होता है।

सन 2021 की परीक्षाएं

संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) ने वार्षिक परीक्षाओं 2021 का कैलेंडर जारी कर दिया है।  प्रत्येक वर्ष UPSC वार्षिक परीक्षाओं का कैलेंडर जारी करता है। जिनमें विभिन्न परीक्षाओं के नोटिफिकेशन से लेकर परीक्षा की तिथि की जानकारी दी गई होती है।  इच्छुक छात्र आयोग की आधिकारिक वेबसाइट upsc.gov.in पर जाकर परीक्षा कैलेंडर 2021 डाउनलोड कर सकते हैं।

नोटः corona virus महामारी को ध्यान मे रखते हुए, आयोग के अनुसार नोटिफिकेशन व परीक्षा की तिथि में आवश्यकतानुसार परिवर्तन किया जा सकता है। इसकी जानकारी अभ्यर्थियों को वेबसाइट के माध्यम से दी जाएगी।

सिविल सर्विस  मुख्य परीक्षा 2020, जनवरी 8,9,10,16,17 2021 को आयोजित की गई। इस वर्ष (2021) में संघ लोक सेवा आयोग (UPSC ) सिविल सेवा परीक्षा 2021 का नोटिफिकेशन 10 फरवरी को जारी हो चुका है (corona महामारी के कारण परिवर्तन की अशंका है)।  इसमें आवेदन के लिए last date 2 मार्च 2021 थी । सिविल सेवा की प्रारंभिक परीक्षा 2021, 27 जून 2021 को होगी। वहीं सिविल सेवा परीक्षा मुख्य परीक्षा 17 सितंबर 2021 तक होगी। जो पांच दिन चलेगी।

NDA 2020 की परीक्षा इस वर्ष 2021 मे आयोजित की जायगी। NDA की परीक्षा में शामिल होने के लिए 12वीं उत्तीर्ण तथा परीक्षा में शामिल छात्र आवेदन कर सकते हैं। यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन (UPSC) की तरफ से इंजीनियरिंग सर्विसेज के लिए प्री एग्जाम 18 जुलाई को आयोजित किया जा सकता है।

वहीं, सम्मिलित रक्षा सेवा (सीडीएस) परीक्षा-1 के लिए परीक्षा 7 फरवरी 2021 की तिथि निश्चित थी । सीडीएस-2 का नोटिफिकेशन 4 अगस्त को आएगा। आवेदन 24 अगस्त तक स्वीकार किए जाएंगे। परीक्षा 14 नवंबर को होगी

नोट : COVID-19 के कारण कई अन्य परिवर्तन किए जा सकते है

Conclusion

दोस्तों आज हमने आपको UPSE के बारे बहुत महत्वपूर्ण जानकारिया दी है। UPSC Kya Hai , UPSE के कार्य , उसके अधिकार, परीक्षा का आधार, आयु सीमा, कोरोना के कारण इसमें आए परिवर्तन इन सभी के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी दी है । हमने अपनी पूरी कोशिश करी है की बड़ी ही सरलता, सीधी सरल भाषा के उपयोग से आपको अधिक जानकारी दे सके। आशा करती हु ये जानकारी आपके लिए बहुत उपयोगी सिद्ध होगी । अगर आपको इस विषय से जुडी कोई भी समस्या उत्पन्न हो रही है तो आप होना प्रश्न हमसे सीधे तरीके से पूछ सकते है। आप  नीचे comment बॉक्स की सहायता से अपना प्रश्न हमसे पूछ सकते है । आर्टिकल के अंत तक हमारे साथ बने रहने के लिए आप सभी का दिल से धन्यवाद।

Read Also  NDA Kya Hai? | एनडीए से जुड़ी जानकारी हिंदी में।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: