fbpx
Skip to content
Home » Tally Prime GST Entry, Report, GST Return, Setting, GST Auto Calculation, Voucher Entry

Tally Prime GST Entry, Report, GST Return, Setting, GST Auto Calculation, Voucher Entry

Tally Prime GST Entry, Report, GST Return, Setting, GST Auto Calculation, Voucher Entry

Tally Prime GST Entry करना Tally में बहुत अधिक Important है, क्योंकि वर्तमान समय में भारत सरकार द्वारा GST लागू किया गया है, जिसे हम Goods & Service Tax के Name से जानते है। GST 15 Numbers का होता है जो हमें GST Registration कराने के बाद हमें प्राप्त होता है, Tally Prime में हम आसानी से GST की entry कर सकते है।

GST Kya Hai?

GST Kya Hai? – GST को हिंदी में वस्तु एवं सेवा कर के Name से जाना जाता है, GST का fullform Goods and Service Tax है, यह indirect Tax है। जो भारत सरकार द्वारा लिया जाता है, यह भारत सरकार द्वारा 1 July 2017 में लागू किया गया है। यह अन्य Tax जैसे उत्पाद कर (Excise Tax), विक्रय कर (Sales Tax), VAT एवं अन्य लगभग 50 से अधिक Taxes को मिलाकर GST का निर्माण किया गया है जिससे की TAX को आसान किया जा सके। इस GST Council द्वारा Manage किया जाता है जिसमे Finance Minister की अगुवाई में पूरे Council काम करता है।

GST को एक राष्ट्र एक कर भी कहा जाता है।

GST – One Tax One Nation

GST के Rates

5%
12%
18%
28%
https://www.cbic-gst.gov.in/gst-goods-services-rates.html

Types of GST

जीएसटी को निम्नलिखित भागों में विभाजित किया गया है

SGST – State Goods and Service Tax
CGST – Central Goods and Service Tax
IGST – Integrated Goods and Service Tax

tally prime gst entry

SGST Kya Hai?

SGST क्या है? – SGST को Hindi में राज्य वस्तु एवं सेवा कर और SGST को इंग्लिश में State Goods and Service Tax के Name से जाना जाता है, यह GST Tax State Government को जाता है। जैसे यदि Computer Purchase करे उसमें 18% GST लगाया जा रहा है तो उसमें 9 Percentage SGST के रूप में लगाया जाता है, SGST केवल State के अंदर ही Purchase और Sales करने के लिए लगाया जाता है। मतलब State के अंदर कोई व्यक्ति माल Purchase करता है और माल Sale करता है तो उसे SGST देना पड़ता है।

CGST Kya Hai?

CGST क्या है? – CGST को Hindi में केन्द्र वस्तु एवं सेवा कर और CGST को इंग्लिश में Central Goods and Service Tax के Name से जाना जाता है, यह GST Tax Central Goverment को जाता है। जैसे यदि Computer Purchase करे उसमें 18% GST लगाया जा रहा है तो उसमें 9 Percentage CGST के रूप में लगाया जाता है, CGST केवल State के अंदर ही Purchase और Sales करने के लिए लगाया जाता है मतलब State के अंदर कोई व्यक्ति माल Purchase करता है और माल Sales करता है तो उसे CGST देना पड़ता है।

CGST एक State के अंदर Purchase और Sales करने पर लगाया जाता है जैसे मैं TV Purchase करती हूँ उसके ऊपर 18 Percentage GST दिया तो Bill में 9 Percentage SGST और 9 Percentage CGST के Name से Entry की जाती है इस प्रकार कुल 18% जीएसटी लगाया गया है।

IGST Kya Hai?

IGST क्या है? – IGST को Hindi में एकीकृत वस्तु एवं सेवा कर और IGST को इंग्लिश में Integrated Goods and Service Tax के Name से जाना जाता है। IGST Integrated GST को जब हम एक State से दूसरे State में लेनदेन करते हैं, तब IGST लगाया जाता है। जैसे मैं माल को Mumbai से लेकर आयी और उसे छत्तीसगढ़ में Sale किया तो इस प्रकार दो राज्यों के बीच में लेन-देन हो रहा है, तो इस प्रकार के लेन देन में IGST लगाया जाता है। जैसे कि कोई मैं washing machine खरीद रही हूँ तो इसके ऊपर IGST 18 Percentage लगाया जाएगा।

GSTIN Kya Hai?

GSTIN क्या है? GSTIN को Hindi में वस्तु एवं सेवा कर पहचान संख्या कहा जाता है और GSTIN को इंग्लिश में Goods and Service Tax Identification Number अंको का होता है, GSTIN का Full Form  – Goods and Service Tax Identification Number होता है जिसे हम 5 भागों में बाट सकते है।

  • State Code
  • PAN Number
  • Entity Number
  • Z Defult Letter
  • Check Sum Digit
tally prime gst entry

GSTIN State Code

GSTIN हर राज्य के लिए unique number निर्धारित किया गया है जो की कुछ इस प्रकार है –

GSTIN State Code Name of State
01 जम्मू एवं कश्मीर (Jammu and Kashmir)
02 हिमाचल प्रदेश ( Himachal Pradesh)
03 पंजाब ( Punjab)
04 चंडीगढ़ ( Chandigarh)
05 उत्तराखण्ड (Uttarakhand)
06 हरियाणा (Haryana)
07 दिल्ली (Delhi)
08 राजस्थान (Rajasthan)
09 उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh)
10 बिहार (Bihar)
11 सिक्किम ( Sikkim)
12 अरुणाचल प्रदेश ( Arunachal Pradesh)
13 नागालैंड (Nagaland)
14 मणिपुर (Manipur)
15 मिजोरम (Mizoram)
16 त्रिपुरा (Tripura)
17 मेघालय (Meghalaya)
18 असम (Assam)
19 पश्चिम बंगाल (West Bengal)
20 झारखण्ड (Jharkhand)
21 उडीसा (Orissa)
22 छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh)
23 मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh)
24 गुजरात (Gujarat)
25 दमण एवं दीव (Daman and Diu)
26 दादर एवं नगर हवेली (Dadra and Nagar Haveli)
27 महाराष्ट्र (Maharashtra)
28 आंध्रप्रदेश(Andhra Pradesh)
29 कर्नाटक (Karnataka)
30 गोवा (Goa)
31 लक्षद्वीप (Lakshdweep)
32 केरल (Kerala)
33 तमिलनाडु (Tamil Nadu)
34 पांडिचेरी (Pondicherry)
35 अंडमान- निकोबार (Andaman and Nicobar)
GSTIN Code State

PAN Number

PAN का Full Form Permanent Account Number होता है, GSTIN में व्यापार-व्यवसाय के Owner का Pan Caard की संख्या सम्मिलित होता है जो कि 10 Numbers का होता है इसलिए GST Registration के समय PAN Card अनिवार्य होता है।

Entity Number

Z Defult Letter

Check Sum Digit

Tally Prime GST Entry (Tally Prime GST Auto Calculation)

अगर हमे Tally आती है और Tally में काम करना चाहते है तो हमें Tally में GST की जानकारी होना अति अवश्यक है। तो आइये अब हम Tally में Tally Prime GST Entry के बारे मे जानते है, Tally में GST यानि गुड्स एंड सर्विस टैक्स July 2019 के बाद से जोड़ा गया है gst आपको Tally Latest Version tally prime में देखने को मिल जायेगा।

GST Activation

GST Activation – सबसे पहले हमें GST को activate करना है, टैली के लेटेस्ट Version टैली प्राइम में Company Create करते ही हमें हमारे GST Details की जानकारी Fill करना होता है, इस लिए बाद में और GST को एक्टिवटे करने Require नही है। फिर चाहे तो टैली प्राइम में GST activate करने के लिए F11 Press करें।

 

tally prime gst entry

Tally Prime GST Entry – टैली में जीएसटी की एंट्री करने लिए हमें इन Steps को Follow करना होगा –

  • सबसे पहले आप गेटवे ऑफ़ टैली पर जाये।
  • F11 features पर जाये।
  • Company Features में जाकर Statutory and Taxation Option को Select करें।
  • Statutory and Taxation में जाने के बाद आपको इसका Dialog Box दिखाई देगा।
  • Dialog box में Enable Goods and Service Tax को Yes करें।
  • उसके बाद set / आल्टर जीएसटी डिटेल्स को Yes करें।
  • Yes करते ही आपको कुछ इस तरह से Screen दिखाई देगा जिसमे हमें पूरी जानकरी Fill करना होगा जैसे स्टेट, जीएसटी नंबर, पीरियड ऑफ़ जीएसटी इत्यादी।
tally prime gst entry

इन सभी Details को Fill करे फिर Save करें और इस प्रकार हमारा जीएसटी Tally में activate हो जायेगा।

GST Ledger Creation

अब आपको Three Type के GST Ledger Create करने होंगे।

  • SGST
  • CGST
  • IGST

SGST (State Goods and Service Tax) जैसे कि आपको पहले से पता है की यह Tax State Government को जाता है और इससे हम Tally में SGST के Name से Ledgers बनाएंगे जिसमें हम sgst@9%, sgst@6%, sgst@14% के Name से बना सकते है।

इस Ledgers को बनाते समय ध्यान में रखें की Type of Tax GST Select करें और उन्हें Percentage देना ना भूलें इस Type से भी जानकारी भरकर सुरक्षित करें।

CGST (Central Goods and Service Tax) जैसे कि आपको पहले से पता है की यह Tax सेे सेंट्रल गवर्नमेंट को जाता है और इससे हम Tally में CGST के Name से Ledgers बनाएंगे जिसमें हम cgst@9%, cgst@6%, cgst@14% के Name से बना सकते है।

tally prime gst entry

चलिए अब तीनो Ledgers बनकर तैयार है।

Stock Item Creation for GST Auto Calculation

अब हम Stock Item बना लेंगे Stock Item बनाते समय इन बातो का ध्यान रखे –

Set / आल्टर GST डिटेल्स को यस करे।

> Yes करते ही आपको GST डिटेल्स फॉर स्टॉक आइटम में कैलकुलेशन टाइप : On Value करें और Taxability को Taxable करे।

> Integrated Tax Rate Fill करे जैसे 18, 28, 12 or 5 अपने Stock Items के GST दर अनुसार निर्धारित करे।

 

Voucher Entry for Tally Prime GST Entry and Auto Calculation

Stock Item बनते ही हम वाउचर में जाकर एंट्री करते हैं, जैसे कि आप नीचे देख पा रहे हैं हमने Stock Item Keyobard, Printer बनाया हुआ है जो कि एक इलेक्ट्रॉनिक आइटम है। जिसमें GST 18 Percentage दिया जाना है। यह लेन-देन 1 State के अंदर हो रहा है इसीलिए यहाँ पर CGST 9 Percentage or SGST 9% लगाया जा रहा है।

जैसे ही आप voucher Entry करेंगे अब Item Entry करने के बाद एक Step नीचे आ जाएंगे नीचे आते ही, CGST और SGST के Ledgers को Select करते हैं Automatice आपका GST Amount Voucher में आने लगेगा।

Tally Prime Purchase Entry with GST

tally prime gst entry

Tally Prime Sales Entry with GST

tally prime gst entry

Tally Prime GST Report

tally prime gst entry
tally prime gst entry
tally prime gst entry

Friends आपको यह Article कैसा लगा, आप हमें Comment करके जरुर बताये और आप हमारे Telegram Channel में भी जुड़े जिससे आपको Latest Notification मिलता रहेगा साथ ही साथ आप इसे WhatsApp, Facebook Instagram Social Media Platform पर Share कर सकते है

इसे भी पढ़े MAINTAIN MULTIPLE ADDRESS IN TALLY PRIME | COMPANY SECOND ADDRESS | LEDGER MULTIPLE ADDRESSES

3 thoughts on “Tally Prime GST Entry, Report, GST Return, Setting, GST Auto Calculation, Voucher Entry”

  1. Pingback: Google Pay Kaise Use Kare - Aao Kre

  2. Pingback: Bill Wise Details in Tally in Hindi - Last-Date

  3. Pingback: Maintain Batch Wise Details Tally in Hindi - Last-Date

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: