fbpx
html tag kya hai

HTML Tag Kya Hai?

HTML Tag Kya Hai – आज के इस पोस्ट में हम जानेंगे HTML tag Kya Hai और एक HTML web page बनाने में इसका क्या महत्व है।

Html tags को समझना ज्यादा मुश्किल नही है। इसका निरंतर अभ्यास करने से आप कुछ ही समय मे HTML tags के master बन सकते है। इस post में हम जानेंगे HTML tag kya hai और साथ ही कुछ Basic HTML tags के Example भी आपको बताएंगे। जिससे आपको HTML tags को समझने में काफी आसानी होगी। तो चलिये बिना समय गवायें Learn Html in Hindi – HTML tag क्या है Start करते है।

HTML Tag Kya Hai | What is HTML Tag in Hindi

HTML Tags एक प्रकार के code होते है, जिनको दो Singular brackets (<>) के बीच उनका Name लिखकर दर्शाया जाता है। हर tag की पहचान व उनका एक अलग काम होता है। एक Web page का Top Part (head) बनाने से लेकर Bottom (footer) व Middle (Content Area) Part बनाने तक मे इन्ही tags का use किया जाता है। इन Tags को कम्रशः Two Parts में बांटा गया है।

1. Paired Tags
2. Unpaired Tags.

Paired Tags: यह Tag Paired होते है। इनके ओपनिंग व क्लोज़िंग दोनों टैग्स  होते है। Opening tag को Starting tag भी कहा जाता है जिसे <head> से डिफाइन करते है। वही क्लोज़िंग टैग को angular brackets के अंदर स्लैश (/) लगाकर ( </head> ) डिफाइन किया जाता है। Example

<Head> Html Tag kya Hai </Head>

ऊपर दिए गए उदाहरण में हेड टैग को Show किया गया है। जिसका इस्तेमाल वेब पेज के Head part को बनाने में किया जाता है। अब चूंकि यह एक Paired Tag है, तो यह (<Head>) इसका ओपनिंग टैग और (</Head>) इसका क्लोज़िंग टैग है। लगभग सभी Important tags paired ही होते है।

Paired Tags Example

Html tag - <html> </html>
Titel tag - <Titel> </Titel>
Body tag - <Body> </Body>
Heading tag - <h1> </h1>
Paragraph tag - <p> </p>
Bold tag - <b> </b>
Italic tag - <i> </i>

Unpaired Tags: यह Tags paired नही बल्कि Single होते है इनका कोई ओपनिंग व क्लोज़िंग टैग नही होता। वेब पेज बनाते समय ऐसे टैग्स का इस्तेमाल बहुत कम होता है। – <Br>

ऊपर दिये गए Example में यह एक लाइन ब्रेक टैग है। जिसका इस्तेमाल paragraph लिखते समय एक लाइन को खत्म कर के दूसरी लाइन लिखने में किया जाता है। अब चूंकि यह एक Unpaired tag है, इसी लिये इसका कोई ओपनिंग व क्लोज़िंग टैग नही है।

Unpaired tags Example

Image tag - <image>
Horizontal Line tag - <hr>

HTML Tag का क्या काम है

Tim-Berners-Lee ने जब Document Sharing के लिये वर्ल्ड वाइड वेब (www) की Starting की थी। तब उन्होंने अपना पहला सॉफ्टवेयर ENQUIRE बनाया। यह सॉफ्टवेयर बहुत ही सिम्पल भाषा में था । इसका काम किसी टेक्स्ट को एक computer से दूसरे Computer तक send करना था। नई Technology की मांग के चलते Lee ने 1990 में Html लैंग्वेज को Specified करते हुए Browser व Server Software की स्टार्टिंग की।

ब्राउजर व सर्वर सॉफ्टवेयर को बनाते समय Lee ने इनके काम करने के लिये कुछ स्पेशल कोड का निर्माण किया। इन codes की help से वह ब्राउजर को स्पेशल कमांड दे सकते थे। आज हम इन्ही codes को Html Tags कहते है। यह Tags वेब pages बनने से पहले ही लिख दिए गए थे। ब्राउजर व सॉफ्टवेयर सर्वर इन सभी टैग्स की कमांड को पहले से ही समझते है।

Example के लिए एक वेब पेज को बनाते वक्त Html Document में जब हम हेड टैग (<head>) को लिखकर उसे ब्राउजर में रन कराते है, तो ब्राउजर उस टैग की कमांड को समझ कर हमें उसका आउट पुट वेब पेज में शो कर देता है।

अब क्योंकि हर एक Html element’s (tags) की ब्राउजर के लिए अपनी एक अलग कमांड होती है। जिसकी help से हम एक वेब पेज का Structure बना पाते है। basically एक html Document में इन टैग्स का काम Web Page के Structure को बनाने में किया जाता है।

कुछ Basic Html Tags व उनके Example

Basic Paired Html Tags:

1. DOCTYPE Tag – <!DOCTYPE>

यह वैसे कोई Tag नही है परन्तु Doctype Tag ब्राउजर को यह बताता है, कि document किस रूप में लिखा गया है। जैसे अभी हम Html के बारे में बात कर रहे है, तो इसे कुछ ऐसे लिखा जायेगा <!DOCTYPE html> इससे ब्राउजर को पता चलता है, कि Document html language से बनाया गया है।

2. Html Tag – <html></html>

यह Tag html का Main tag है। जो एक html document को डिफाइन करता है। एक Html document बनाने की Starting इसी टैग से की जाती है। बाकी सभी html element’s इसी टैग के बीच मे लिखे जाते है।

3. Head Tag – <head></head>

इस टैग के द्वारा वेब पेज का हेडर एरिया बनाया जाता है। यह Tag एक वेब पेज के बारे जरूरी इनफार्मेशन प्रवाइड करता है। <title>, <style>, <script>, <link>, <meta> यह सभी tags हेड टैग के अंदर ही लिखे जाते है।

4. Body Tag – <Body></Body>

इस टैग का Use वेब पेज के कंटेन्ट एरिया को बनाने में किया जाता है। यह एक बहुत Important tag है। बॉडी टैग एक html document में सिर्फ एक बार ही इस्तेमाल में लाया जा सकता है।

5. Title Tag – <title></title>

किसी भी वेब पेज का शिर्षक देने के लिये टाइटल टैग का Use किया जाता है। इसे हेड टैग के अंदर लिखा जाता है। टाइटल टैग की help से ब्राउजर यह जान पाता है, कि वेब पेज किस बारे में है।

6. Heading Tag – <h1></h1>

यह tag document की हेडिंग लिखने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। हेडिंग टैग h1 से start होकर क्रमशः h6 तक होते है।

7. Paragraph Tag – <p></p>

यह tag Paragraph लिखने के लिए Use किया जाता है। इस टैग का इस्तेमाल करके आप अपने html document में कितने भी Paragraph use कर सकते है।

8. Bold Tag – <B></B>

किसी महत्वपूर्ण टेक्स्ट को बोल्ड करने के लिये बोल्ड टैग का इस्तेमाल किया जाता है। एक html document में कितने भी बोल्ड टैग Use किये जा सकते है।

9. Italic Tag – <i></i>

किसी टेक्स्ट को इटैलिक करने के लिये इटैलिक टैग का इस्तेमाल किया जाता है। Html document में इस टैग का Use कई बार किया जा सकता है।

10. Underline Tag – <u></u>

टेक्स्ट को अन्डर लाइन करने के लिये अन्डर लाइन टैग का इस्तेमाल किया जाता है। इस टैग के Use से टेक्स्ट के नीचे एक गहरी line खिच जाती है।

Basic Unpaired Html Tags:

1. Line Break Tag – <br>

Html document में Paragraph लिखते समय एक लाइन Finish कर के अगली लाइन स्टार्ट करने के लिये लाइन ब्रेक टैग का इस्तेमाल किया जाता है। इस tag की Help से Paragraph की Line Straight न होकर बारी – बारी से होती है। जिससे एक वेब पेज का साइज़ कंट्रोल में रहता है।

2. Image Tags – <img>

Html document में इमेज ऐड करने के लिये इमेज टैग का इस्तेमाल किया जाता है। src, alt, width, height व स्टाइल यह सभी इमेज टैग के attributes है। जिनकी Help से हम उस इमेज का url, widt , height etc. सभी चीज़े दे पाते है।

3. Horizontal line Tag – <hr>

यह Tag Paragraph में thematic break Specify करने के लिए होता है। अगर आप paragraph लिखते समय अपने टॉपिक से शिफ्ट हो जाते है, तो यह टैग उन दोनों टोपिक्स के बीच एक line खींच देता है। जिससे उन दोनों के बीच एक गैप आ जाता है।

Read Also How to Learn HTML in Hindi

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!