fbpx
Skip to content
Home » CDS Kya Hai | CDS पोस्ट पर कार्यरत रहने की समय सीमा क्या है?

CDS Kya Hai | CDS पोस्ट पर कार्यरत रहने की समय सीमा क्या है?

Hello दोस्तों, आज मै आपको CDS के बारे मे बताने जा रही हूँ। CDS की फुल फॉर्म होती है है चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ। यह वह पोस्ट है, जो सीधे सरकार को सेना के बारे में सलाह देता है। इसमें नौसेना, वायु सेना और थल सेना तीनों ही सम्मिलित होती हैं। लंबे समय से इस बात को महसूस किया जा रहा था कि एक हमारे देश मे ऐसा पद होना चाहिए, जो तीनों ही सेनाओं के बीच एक सेतु का काम करे। इसके लिए सरकार ने CDS की स्थापना 2019 मे की और 2020 मे देश मे पहला CDS जनरल बिपिन रावत को चुने गए थे। चलिए और भी बहुत कुछ जानते है CDS के बारे मे। CDS Kya Hai , CDS पोस्ट बनाने का विचार किसका, CDS Post पर कार्यरत रहने की समय सीमा क्या है, 

CDS Kya Hai?

दोस्तों जैसा की हम उपरोक्त मे पहले ही बता चुके है कि CDS पोस्ट का अफसर डायरेक्ट गवर्नमेंट को सेना के बारे मे सलाह देता है। इसमें देश की तीनो सेनाए (नौसेना, वायु सेना और थल सेना) सम्मिलित होती है।
चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (CDS) के पद का मतलब होगा कि प्रधानमंत्री और रक्षामंत्री के लिए महत्वपूर्ण रक्षा और रणनीतिक मुद्दों पर सरकार के सलाहकार के रूप में केवल एक व्यक्ति कार्य करेगा। CDS परमाणु मुद्दों पर प्रधानमंत्री के सैन्य सलाहकार के रूप में भी काम करेगा।
यह तीनो ही के बीच संतुलन बनाने का कार्य करता है। जनवरी 2020 मे पहला CDS अफसर जनरल बिपिन रावत को चुना गया था। इससे पूर्व देश मे ऐसी कोई भी पोस्ट नहीं थी।

CDS पोस्ट बनाने का विचार किसका?

चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ CDS पोस्ट भारत मे हो इसका विचार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया। सर्वप्रथम उन्होंने CDS पोस्ट का ऐलान 2019 में लाल किले के प्राचीर से स्वतंत्रता दिवस के मौके पर किया था। यह हमारे देश की सेनाओ को मजबूत बनाने का एक अहम फैसला था। प्रधानमंत्री जी को CDS की पोस्ट का ख्याल काफ़ी समय से खल रहा था। भारत के पडोसी देशों की नीति को देखते भारतीय सेना के तीनों विंगों के बीच समन्वय बढ़ाने के लिए चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) के पद की शीघ्र आवश्यकता थी। अंततः उन्होंने 2019 मे चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (CDS) पोस्ट बनाने का एलान उन्होंने देश के हित मे किया।

what is cds

CDS पोस्ट पर कार्यरत रहने की समय सीमा क्या है?

चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (CDS) की पोस्ट तीनो सेनाओ से ऊपर रहती है। यह तीनो सेनाओ मे संतुलन स्थापित करने का कार्य करती है। इस पद पर कोई व्यक्ति केवल 65 वर्ष की उम्र तक ही कार्य कर सकता है। देश के पहले CDS अफसर जनरल विपिन रावत स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति को स्पेशल सिक्योरिटी देने का भी कार्य करते थे।

सीडीएस पोस्ट के तहत चयन किसे मिलता है?

एक अधिकारी जिसे भारतीय सशस्त्र बलों के सेवारत अधिकारी के बीच चार-सितारा अधिकारी से चुना जाता है, वह चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ पद के अंतर्गत आता है। सीडीएस चीफ ऑफ स्टाफ कमेटी के स्थायी अध्यक्ष हैं। आज के दौर में चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ का पद बहुत महत्वपूर्ण है। सीडीएस का वेतन और अनुलाभ सेवा प्रमुख के समान ही रहता है।

Functions of CDS

जैसा की हम पहले ही बता चुके है की CDS अफसर तीनो सेनाओ का प्रमुख एक ही व्यक्ति होता है। CDS के मुख्य कार्य इस प्रकार हैं।

1. चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ, प्रधानमंत्री और रक्षामंत्री के लिए महत्वपूर्ण रक्षा और रणनीतिक मुद्दों पर सरकार के सलाहकार के रूप में कार्य करेगा।
2. CDS, तीनों सेनाओं के मामलों पर रक्षा मंत्री के प्रधान सैन्य सलाहकार के रूप में कार्य करेंगे।
3.CDS, परमाणु मुद्दों पर प्रधानमंत्री के सैन्य सलाहकार के रूप में भी काम करेगा।
4.चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ का कार्य होगा कि वह सेना के तीनों अंगों के बीच दीर्घकालिक नियोजन, प्रशिक्षण, खरीद और परिवहन के कार्यों के लिए समन्वयक का कार्य करे।
5. CDS, परमाणु कमान प्राधिकरण के सैन्य सलाहकार के रूप में कार्य करेंगे।
6. वह किसी भी सैन्य कमांड का प्रयोग नहीं करेगा, और इस मामले में नियम पूर्ववत ही रहेंगे।
7. सीडीएस, रक्षा मंत्री की अध्यक्षता में रक्षा अधिग्रहण परिषद के सदस्य होंगे।
8. वह चीफ्स ऑफ स्टाफ कमेटी के स्थायी अध्यक्ष होंगे।
9. सैन्य मामलों के विभाग के प्रमुख के रूप में भी कार्य करेंगे।

देश के पहले CDS officer विपिन रावत हुए शाहिद।

दोस्तों देश के पहले CDS थे जनरल बिपिन रावत, उन्हें पिता से विरासत में मिली थी बहादुरी और देशभक्ति का जज्बा। उन्होंने अपने जीवन के 63 वर्ष देश पर कुर्बान कर दिए और अंततः 8 December 2021 को अपनी 63 वर्ष की आयु मे वह देश पर शहीद भी हो गए।
देश के पहले CDS अफसर विपिन रावत अपनी पत्नी श्रीमति मधुलिका रावत समेत एक विमान दुर्घटना मे मौत हो गयी। वो सेना के हेलीकॉप्टर से अपनी पत्नी और सेना के कई वरिष्ठ अधिकारियों के साथ एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने जा रहे थे। विमान मे विपिन रावत और उनकी पत्नी के अतिरिक्त कुल 13 से 14 लोग थे। जनरल विपिन रावत ने अपना समस्त जीवन देश की सेवा पर कुर्बान किया और इस दौरान उन्हें कई सम्मनो से नवाजा भी गया। देश को गर्व है ऐसे काबिल अफसर पर जिसने आजीवन सिर्फ देश की सेवा ही की।

यह भी पढ़े क्रेडिट कार्ड 

निष्कर्ष

दोस्तों आज के आर्टिकल मे हमने आपको CDS के बारे मे जानकारी दी। साथ ही देश के पहले CDS अफसर जनरल विपिन रावत कैसे शाहिद हुए वह भी बताया। मेरी यही कामना है कि देश का हर वीर जनरल विपिन रावत जितना काबिल बने। देश को जरूरत है ऐसे सपूतो की जो देश के लिए मर मिटने को भी तैयार हो। तो दोस्तो आज मैं आपसे यह नहीं पूछूँगी कि आर्टिकल कैसा था लेकिन मुझे उम्मीद है कि यह आर्टिकल आपको भारतीय सेना में शामिल होने के लिए प्रोत्साहित करेगा और आपके जीवन में कुछ अलग करने के लिए आपका समर्थन करेगा। ताकि एक दिन देश का हर व्यक्ति आप पर गर्व महसूस करे। इस विषय पर चर्चा करके मैं आप सभी से कहना चाहती हूं कि न केवल अपने लिए बल्कि देश के लिए भी कुछ ऐसा करें कि लोग आपको याद दिलाएं कि मैं आपके जीवन के बाद आपको अकेला छोड़ गया था। हर कोई अपने जीवन और अपने परिवार के लिए पूरी तरह से कुछ करता है लेकिन एक आदर्श व्यक्ति वह होता है जिसने अपने देश के लिए कुछ किया हो।

यह भी पढ़े NDA Kya Hai? | एनडीए से जुड़ी जानकारी हिंदी में।

1 thought on “CDS Kya Hai | CDS पोस्ट पर कार्यरत रहने की समय सीमा क्या है?”

  1. Pingback: Hill Climb Racing | Hill climb racing गेम कैसे खेले? - Last-Date

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: