fbpx
Skip to content
Home » Bill Wise Details in Tally in Hindi

Bill Wise Details in Tally in Hindi

टैली में Bill-wise details क्या है, अक्सर जब भी आप Sales या Purchase Voucher में एंट्री पोस्ट करते होंगे तो ये ऑप्शन Method Of Adj जरूर से शो होता होगा, क्या कभी आपने ये सोचा है कि ये ऑप्शन आखिर क्यों आता है, इसका क्या मतलब होता है। तो आज मैं आपको ये ही बताऊगी कि Tally Me Bill Wise Details Kya Hai?  Bill Wise Details in Tally ? Bill Wise Details Ka Kya Use hai?

Methods Of Adj कितने टाइप्स के होते है और इन Methods Of Adj का Use क्या क्या है टैली में। आज के इस Article में हम Bill Wise Details in Tally के बारे में Details में Discuss करेंगे। So Follow It.

Tally मे Bill Wise Details क्या है? What are Bill-wise Details Hindi 2022

जब भी हमारे Suppliers, हमको कोई बिल प्रोवाइड करते है, या फिर हम जब अपना माल(Goods) किसी Person/Party को Sale करते है तो हम भी उस सामने वाली Party/Person को बिल देते है, तो यही बिल देने हम उस बिल को बिल वाइज मेन्टेन करने को ही Bill Wise Details या Bill Wise Accounting कहते है।

Bill Wise Accounting Option Kaise Active Kare?

टैली में बिल वाइज एकाउंटिंग ऑप्शन एक्टिव करने के लिए कुछ सिंपल Steps को Follow करे।

  • सबसे पहले आप Gateway Of Tally में F11 Button को Press करे।
  • अब आप F1(Accounting Feature) में जाये।
  • यहाँ आपको Outstanding Management में Maintain Bill-wise Details का Option Show Hoga उसे Yes करके Save कर ले।

maintain bill wise

Methods Of Adjustments In Tally

टैली हमें Bills को Adjust करने के Basically 4 Methods Provide करता है।

  • New Ref (New Reference)
  • Agst Ref (Against Reference)
  • Advance
  • On Account

आइये एक एक करके सभी Adjustment Methods को Discuss करे।

  • New Ref(New Reference):- New Reference का Simple सा Meaning है New Bill. मैं आपको Clearly बता दूँ कि यहाँ Reference Word Bill को ही Represent कर रहा है।

जब भी Tally में हम Bill को Create करते है या फिर जब भी हमको किसी party/Company से कोई Bill Receive होता है तो ऐसी Condition में हम New Reference को Use करते हुए Bill की Entry Tally में करते है।

Read More Article:- Tally Prime GST Entry, Report, GST Return, Setting, GST Auto Calculation, Voucher Entry

New Reference आप जब Tally में Purchase And Sale Voucher में Entry Pass करते है तो आपको Automatic Show होता है, New Reference Already highlighted होता है Tally में जिस से Clear हो जाता है कि ये New Reference का Coloum है।

Agst Reference(Against Reference):-Agst Reference का use तब हम करते है जब Party/Company के जितने भी Bills है, वो Pendings हो, और जब भी हम Tally में Voucher Entry Pass करते है तो सभी Pending Bills की List हमको Show हो जाती है, किस Bill के Agst हम उस Party को payment कर रहे है।

Simple Meaning ये है कि Party के Pending Bills के Against जब Payment आती है तो उसको कैसे किस Bill में Adjust करना है वो सभी Work हम Agst Reference में करते है।

जब हम किसी Party को payment करते है तो आपको Payment Voucher में Agst Ref Already Selected मिलेगा। बहुत सारी Company Agst Reference में LIFO या FIFO Methods का Use करती है। फिलहाल Agst Ref Option का Use हम Purchase Return और Sale Return करते वक़्त भी use करते है।

Advance:- जब भी आपको अपनी Party से Advance में पैसा Received होता है तो ऐसी Condition में Tally में जब Methods Of Adj का Option Show हो तो आप Simply Advance Option को Select करे।

Tally में हमको अपने According Advance method Of Adj को Select करना होता है जब भी हमको Paty/Company Advance में पैसे देती है तब ये Condition Follow होती है।

Advance Adj को Select करने पर हमारे पास उस party का Advanvce पैसा Tally में Store हो जाता है।

Read More Article:- Receipt Note in Tally | What is GRN in Tally

  • On Account:- On Account Adjustment को हम Mostly कुछ Specify Entries के लिए Use करते है, जो कि कुछ इस तरह से है Just Follow It.
  • जब कोई Party आपको पैसे देती है, Cash Money जब Receipt होता है Tab Use करते है।
  • जब किसी party का Cheque Dishonour हो जाये तो हमें On Account का Use करना होता है।
  • Suppose आप किसी party के Behalf पर आप कोई Payment कर रहे है तो हम On Account का Use करेंगे।
  • किसी Party के Ledger में Interest Charge करना हो तो उस condition में भी On Account का Use करेंगे।

Bill Wise Details Option अगर Show ना हो तो कैसे Active करे?

कभी कभी ऐसा होता है कि Bill Wise Details जब हम Tally में Voucher Entry Sale/Purchase कि Post करते है, तो Bill Wise Option हमें Show नहीं होता है। ऐसी, Condition में In Steps को Follow करे।

  • सबसे पहले आप Sale/Purchase Voucher में जाये।
  • Narration में आकर F12 Configuration Button को Press करे।
  • अब Use Default For Bill Allocation का Option Show होगा, उसको No कर दे।
  • अब आपका Bill Wise Adjustment Option Active हो चुका है, अब जब भी आप Entry Post करेंगे तो आपसे Bill Wise Details Tally में Show होगा।

तो इस तरह से आप आसानी से Bill Wise Details Option को Tally में Use कर सकते है बस इन Steps को Follow करे।

Conclusion

आज की इस पोस्ट में मैंने आपको बताया की Tally में Bill Wise Details क्या है? Tally में Bill Wise Details का Use क्या है? Methods Of Adjustment कितने Types के होते है और In Methods Of Adj को Tally में Activate कैसे करे।

उम्मीद करती हूँ आपको ये Article अच्छा लगा होगा, अगर आपको Article अच्छा लगा हो तो इसको Social Media पर जरूर Share करे, और Tally से Related कोई भी Problem अगर आपको हो तो आप मुझे Email कर सकते है, मैं जल्दी ही आपकी Problem को Solve करने की पूरी कोशिश करुँगी।

इसे भी पढ़े What is Budget | How to Create Budget in Tally in Hindi (टैली में बजट कैसे बनाये)

1 thought on “Bill Wise Details in Tally in Hindi”

  1. Pingback: Medical Store Accounting | Tally में Medical का काम कैसे करे - Last-Date

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: